काश भीगता कभी तू

काश भीगता कभी तू
मेरे सुखन की बारिश में।

कतरा – कतरा जज़्बात,
तेरी जड़ों में रिस जाते।।

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry
1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *