Category: Two Line Shayari

बड़ी दिल फरेब सी है तेरी ये अदा

बड़ी दिल फरेब सी है तेरी ये अदा
ना चैन लेने दे, ना ही कोई सुकून दे

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry

कोई ऐसा कर बहाना मेरी आस टूट जाए

तेरे वादों पे कहाँ तक मेरा दिल फ़रेब खाए
कोई ऐसा कर बहाना मेरी आस टूट जाए

~फ़ना निज़ामी कानपुरी

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry

याद कर लेना मुझे तुम कोई भी जब पास न हो

याद कर लेना मुझे तुम कोई भी जब पास न हो

चले आएंगे इक आवाज़ में भले हम ख़ास न हों

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry

“इश्क” आता तो दबें पाव है

“इश्क” आता तो दबें पाव है

“शोर” तो उसके “टूटने” पर होता है❤️….

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry

इबारत … इश्क की लिखकर..

इबारत …

इश्क की, लिखकर..

वो चल दिये…

और आयत समझ हम पढ़ते रहे उम्र भर…..!

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry

महके-महके से रहते हैं खुश्बू से तेरी

महके-महके से रहते हैं खुश्बू से तेरी

तुम बन के इत्र बिखर गये हो मुझमें कहीं.!!

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry

दिल खुद ढूंढ लेता है तेरी बेरुखी के बहाने

दिल खुद ढूंढ लेता है तेरी बेरुखी के बहाने।

तुम्हे अपनी सफाई में कुछ कहने की जरूरत नही।।

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry

याददाश्त का कमजोर होना बुरी बात नहीं है

याददाश्त का कमजोर होना बुरी बात नहीं है

बड़े बेचैन रहते है वो लोग जिन्हें हर बात याद रहती है

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry

काँच सा है वजूद मेरा

काँच सा है वजूद मेरा

और तुम समझते हो कोहिनूर मुझे

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry

जुल्म के सारे हुनर हम पर यूँ आजमाये गये

जुल्म के सारे हुनर हम पर यूँ आजमाये गये,

जुल्म भी सहा हमने, और जालिम भी कहलाये गये!!

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry