कौन शरमा रहा है आज यूँ हमें फुरसत में याद कर के…

हिचकियाँ आना तो चाह रही हैं, पर ‘हिच-किचा’ रही हैं…

कौन शरमा रहा है आज यूँ हमें फुरसत में याद कर के…

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *