उन्हीं चाहतों का खुला आसमां हो तुम

अंदर ही अंदर अंगड़ाईयाँ लेकर मचलती हैं,जो हमेशा …

उन्हीं चाहतों का खुला आसमां हो तुम..!!

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *